कब्ज कुछ लोगों की नज़र में छोटी समस्या है, जिसके लिए किसी तरह के इलाज की जरूरत नहीं होती है।
दूसरी ओर, कुछ लोग ऐसे भी हैं, जिनके लिए यह पेट की समस्या असहनीय बन जाती है और उन्हें अन्य काम करने में भी दिक्कत का सामना करना पड़ता है।
जैसा कि हम सभी यह जानते हैं कि आज कल काफी सारी खाने की चीज़े आ गई हैं, जिनका असर हमारे पाचन तंत्र (digestive system) पर पड़ता है और हम कब्ज जैसी पेट की बीमारी का शिकार आसानी से  बन जाते हैं।
अब, आपके मन में यह सवाल जरूर आया होगा कि कब्ज का इलाज किया जा सकता है, तो हम इस लेख में ऐसे ही सवालों के उत्तर देने जा रहे हैं।

कब्ज क्या है? (What is constipation? in hindi)

जब किसी व्यक्ति को वॉशरूम जाने में परेशानी हो और तमाम कोशिशों के बावजूद उसका पेट साफ न हो पाए, तो उस स्थिति को कब्ज कहा जाता है।
आमतौर पर, यह समस्या 1-2 दिनों में स्वयं ही ठीक हो जाती है, लेकिन जब ऐसा लंबे समय तक रहे तब इससे पीड़ित लोगों को मेडिकल सहायता लेनी चाहिए।

कब्ज के संकेत क्या हैं? (Symptoms of constipation in hindi)

कब्ज की समस्या किसी भी उम्र के लोगों को हो सकती है, जिसके मुख्य रूप से ये 5 लक्षण या संकेत हो सकते हैं-

  1. एक हफ्ते में 3 से कम बार में मल होना
  2. मल का सख्त होना
  3. मलत्याग में कठिनाई होना
  4. बाउल में ब्लॉकेज होना
  5. पेट का सही तरीके से साफ न होना

कब्ज किन कारणों से होता है? (Constipation causes in hindi)

ऐसा माना जाता है कि किसी बीमारी के सटीक कारण का पता लगाना काफी मुश्किल होता है।
यह बात कब्ज पर भी लागू होती है, लेकिन इस बीमारी पर किए गए अभी तक अध्ययनों से स्पष्ट है कि इसके संभावित कारण निम्नलिखित हैं-

  • खान-पान में बदलाव करना
  • डाइट में पानी का कम मात्रा में सेवन करना
  • डेयरी उत्पादों का अधिक मात्रा में सेवन करना
  • किसी तरह की एक्सराइज़ न करना
  • स्ट्रेस लेना

कब्ज का इलाज कैसे करें? (How to treat constipation? in hindi)

हालांकि, कब्ज से पीड़ित लोगों को काफी सारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है।
इसके बावजूद राहत की बात यह है कि किसी भी अन्य बीमारी की तरह कब्ज का भी इलाज संभव है।
अत: यदि कोई कब्ज से पीड़ित है, तो वह इन 5 तरीके से इससे छुटकारा पा सकता है-

  1. घरेलू नुस्खे अपनाना
  2. दवाई लेना
  3. पैल्विक मांसपेशियों की एक्सराइज़ करना
  4. सप्लीमेंट का सेवन करना
  5. सर्जरी कराना

कब्ज की रोकथाम कैसे किया जा सकता है? (Constipation precautions in hindi)

हालांकि, कब्ज की वजह से काफी सारे लोग परेशान हैं, जो उसका इलाज कराने के लिए हर मुमकिन कोशिश भी करते हैं।
इसके बावजूद, सवाल यह उठता है कि क्या ऐसा कोई तरीका है, जिससे इस बीमारी की रोकथाम संभव है, तो आपको यह जानकर सुनकर राहत मिलेगी कि किसी भी अन्य बीमारी की तरह कब्ज की भी रोकथाम की जा सकती है।
इस प्रकार, यदि कोई व्यक्ति कब्ज की रोकथाम करना चाहता है तो वह निम्नलिखित कदमों का पालन कर सकता है-

  • खान-पान का ध्यान रखना या हेल्थी फूड करना
  • एक्सराइज़ करना
  • इम्युनिटी पावर को बढ़ाना
  • साफ पानी पीना
  • समय-समय पर हेल्थचेकअप कराना

निश्चित रूप से, पेट संबंधी बीमारी या समस्या किसी भी व्यक्ति को परेशान कर सकती है क्योंकि इसकी वजह से अन्य गंभीर बीमारियाँ  होने की संभावना भी बढ़ सकती है।
इसके अलावा, यदि कोई व्यक्ति कब्ज को गंभीरता से न ले तो कुछ समय के बाद यह बीमारी लाइलाज साबित हो सकती है।
हालांकि, इससे पीड़ित लोग इससे छुटकारा पाने की कोशिश करते हैं, लेकिन उन्हें कब्ज की पूर्ण जानकारी न होने के कारण इस कोशिश में कामयाब नहीं हो पाते हैं।
अत: यह जरूरी है कि उन्हें इस बीमारी की अधिक-से-अधिक जानकारी दी जाए ताकि वे इस बीमारी की रोकथाम करने के साथ-साथ इसके होने पर सही तरीके से इलाज करा सकें।

बार-बार पूछे जाने वाले सवाल (FAQ’S)

Q1. कब्ज को कैसे ठीक किया जा सकता है?
Ans-
कब्ज को ठीक करने के लिए मुख्य रूप से अधिक मात्रा में पानी पीना, पौष्टिक भोजन करना, एक्सराइज़ करना, कॉफी का सेवन करना इत्यादि तरीके को अपनाया जा सकता है।
Q2. कब्ज होने के मुख्य कारण क्या हैं?
Ans-
कब्ज के प्रमुख कारणों में अनहेल्थी फूड खाना, एक्सराइज़ न करना, स्ट्रेस लेना, किसी तरह की बीमारी से पीड़ित होना इत्यादि शामिल हैं।
Q3.
क्या कब्ज से किसी व्यक्ति की मौत हो सकती है?
Ans-
हालांकि, ऐसा काफी कम होता है कि किसी व्यक्ति की मौत कब्ज की वजह से हो जाएगे, लेकिन इसके बावजूद इससे पीड़ित लोगों को अपनी सेहत का विशेष ध्यान रखना चाहिए ताकि उन्हें किसी तरह की गंभीर बीमारी का शिकार न बनना पड़े।
Q4.
कब्ज के लंबे समय तक रहने का नतीजा क्या हो सकता है?
Ans-
कब्ज के लंबे समय तक रहने का नतीजा काफी घातक साबित हो सकता है।
इसकी वजह से गुप्तांग में सूजन या इंफेशन जैसी समस्याएं हो सकती हैं।
Q5.
कब्ज होने पर किस तरह का भोजन करना चाहिए?
Ans-
कब्ज होने पर लोगों को अपने भोजन का विशेष ध्यान रखना चाहिए।
उन्हें इस दौरान सादा भोजन जैसे दलिया, खिचड़ी, नींबू पानी इत्यादि का सेवन करना चाहिए।
Q6. कब्ज की समस्या कितने समय तक रह सकती है?
Ans-
आमतौर पर, कब्ज की समस्या 1-3 दिनों तक रह सकती है, लेकिन इसके अधिक रहने पर यह खतरनाक रूप ले सकती है, जिसके लिए मेडिकल सहायता लेनी पड़ती है।
Q7.
कब्ज में किस तरह का भोजन नहीं करना चाहिए?
Ans-
कब्ज में मसालेदार भोजन, फ्राइड फूड, फास्ट फूड, शराब, संतरा इत्यादि का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि इस तरह का भोजन कब्ज की समस्या बढ़ा सकता है।

 

 

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *